केंद्र ने कहायुद्धन्मन इलेक्ट्रॉनिक्स, स्पुतनिक-वी वैक्सीन के लिए भारत-रूस के बीच बातचीत शु

युद्धन्मन इलेक्ट्रॉनिक्स Covid-19 Sputnik-V in Hindi: कोरोना स्पुतनिक-वी वैक्सीन के लिए भारत

sputnik corona-vaccination केंद्र ने कहायुद्धन्मन इलेक्ट्रॉनिक्स, स्पुतनिक-वी वैक्सीन के लिए भारत-रूस के बीच बातचीत शुरू।

रूस (Russia) द्वारा विकसित की गई कोविड-19 वैक्सीन ‘स्पुतनिक-वी’ (Covid-19 Sputnik-V) को लेकर भारत और रूस में बातचीत चल रही है। केंद्र ने मंगलवार को ये जानकारी दी। अभी कुछ प्रारंभिक जानकारी साझा की गई है और भारत में विस्तृत जानकारी की प्रतीक्षा की जा रही है। ‘स्पुतनिक-वी’ वैक्सीन को गामालेया रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी ने रशियन डायरेक्ट इनवेस्टमेंट फंड (आरडीआईएफ) के साथ मिलकर तैयार किया है। ‘स्पुतनिक-वी’ को 11 अगस्त को पंजीकृत किया गया था। वैक्सीन पर सहयोग के लिए फिलहाल भारत और रूस के बीच बातचीत चल रही है। Also Read - कोरोना के शिकार हुए नितिन गडकरीयुद्धन्मन इलेक्ट्रॉनिक्स, ट्विटर पर लोगों से कही ये बातें

एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुएयुद्धन्मन इलेक्ट्रॉनिक्स, स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry of Health) के सचिव राजेश भूषण ने कहायुद्धन्मन इलेक्ट्रॉनिक्स, क्लासिक हैंडहेल्ड गेम कंसोल “जहां तक स्पुतनिक-वी वैक्सीन (Covid-19 Sputnik-V) का संबंध है, भारत और रूस संचार में हैं, कुछ प्रारंभिक जानकारी साझा की गई है और कुछ विस्तृत जानकारी का इंतजार है।” Also Read - भारत की डॉ. रेड्डीज़ लैब को मिलेगी कोविड-19 वैक्सीन 'स्पुतनिक' की 10 करोड़ खुराकें, कम्पनी देश में उपलब्ध कराएगी ये टीके

हाल ही में आरडीआईएफ के सीईओ किरिल दिमित्रीव ने कहा था कि रूस द्वारा विकसित की गई कोविड-19 वैक्सीन के उत्पादन के लिए रूस,युद्धन्मन इलेक्ट्रॉनिक्स भारत के साथ साझेदारी करना चाहता है। इस बीच, भारत में भी तीन वैक्सीन परीक्षण (Corona vaccine in India) के उन्नत चरणों में हैं। Also Read - दुनियाभर में केवल 10 प्रतिशत युवाओं को ही हुआ कोविड संक्रमण, WHO ने बताया 20 वर्ष से कम उम्र वाले महामारी से अब तक सुरक्षित

गौरतलब है कि रूस (Russia) के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने 11 अगस्त को नोवल कोरोनावायरस के इलाज के लिए दुनिया के पहले पंजीकृत वैक्सीन की घोषणा की, जिसका नाम मॉस्को द्वारा 1957 में लॉन्च किए गए अंतरिक्ष सैटेलाइट स्पुतनिक-वी (Russia corona Vaccine Sputnik-V) के नाम पर है।

सुपरफास्ट ‘स्पुतनिक-5’ वैक्सीन है कितनी सुरक्षित?, WHO ने कहा कड़ी सुरक्षा जांच के बाद होगा स्पष्ट

रूस ने कोविड-19 वैक्सीन स्पूतनिक-वी का उत्पादन किया शुरू

Published : August 25, 2020 11:05 pm | Updated:August 26, 2020 12:18 am Read Disclaimer Comments - Join the Discussion कोरोना जांच के मामले में उत्तर प्रदेश आगे,  WHO द्वारा तय मानक से 4 गुना अधिक टेस्ट हो रहे हैं रोज़ानाकोरोना जांच के मामले में उत्तर प्रदेश आगे,  WHO द्वारा तय मानक से 4 गुना अधिक टेस्ट हो रहे हैं रोज़ाना कोरोना जांच के मामले में उत्तर प्रदेश आगे, WHO द्वारा तय मानक से 4 गुना अधिक टेस्ट हो रहे हैं रोज़ाना पुरुषों को कैसे करना चाहिए पेशाब? खड़े होकर या बैठकरपुरुषों को कैसे करना चाहिए पेशाब? खड़े होकर या बैठकर पुरुषों को कैसे करना चाहिए पेशाब? खड़े होकर या बैठकर ,,
上一篇:युद्धन्मन इलेक्ट्रॉनिक्स उत्तर प्रदेश में रोज़ाना 4 गुना अधिक टेस्ट हो रहे है    下一篇:युद्धन्मन इलेक्ट्रॉनिक्स कोरोना के शिकार हुए नितिन गडकरी, ट्वीट कर दी जानकार